मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

भारत-सेनेगल संयुक्त आयोग की तीसरी बैठक पर जारी संयुक्त वक्तव्य (नवंबर 05 2021)

नवम्बर 06, 2021

1. भारत-सेनेगल संयुक्त आयोग की तीसरी बैठक (जेसीएम) 5 नवंबर 2021 को सेनेगल के डकार में आयोजित की गई। भारत के विदेश राज्य मंत्री महामहिम श्री वी. मुरलीधरन और सेनेगल गणराज्य की विदेश तथा प्रवासी मामलों की मंत्री महामहिम श्रीमती आसिस्ता टॉल सॉल ने बैठक की सह अध्यक्षता की । इस आयोग की स्थापना 16 फरवरी 1997 को हुए एक समझौते के आधार पर की गई थी।

2. महामहिम श्रीमती आसिस्ता टॉल सॉल ने भारत के विदेश राज्य मंत्री श्री वी. मुरलीधरन और उनके साथ आए प्रतिनिधिमंडल का सेनेगल में स्वागत किया। श्री मुरलीधरन ने इस आतिथ्य के लिए उनको धन्यवाद दिया।

3. दोनों पक्षों ने सेनेगल के राष्ट्रपति महामहिम श्री मैकी सॉल की अक्टूबर 2015 और मई 2017 में की गई भारत यात्रा को याद किया और द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए भविष्य में भी नियमित रूप से उच्च स्तरीय यात्राएं जारी रखने पर सहमत हुए।

4. दोनों मंत्रियों ने द्विपक्षीय संबंधों की वर्तमान स्थिति की समीक्षा की और दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की 60वीं वर्षगांठ मनाने की उत्सुकता प्रकट की। इस बारे में दोनों पक्षों ने सेनेगल द्वारा एक स्मारक डाक टिकट जारी करने सहित कई कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया।

5. दोनों पक्षों ने संयुक्त आयोग की नियमित बैठक (जेसीएम) और विदेश कार्यालय परामर्श (एफओसी) आयोजित करने के महत्व पर बल दिया। दोनों पक्षों ने संयुक्त सचिव स्तर की अध्यक्षता में संयुक्त व्यापार समिति की स्थापना और जेसीएम के दौरान लिए गए निर्णयों के कार्यान्वयन की समीक्षा के लिए सचिव/महासचिव स्तर पर दो जेसीएम के बीच अंतर-सत्र बैठकें आयोजित करने की संभावनाओं का पता लगाया।

6. दोनों पक्षों ने आर्थिक, व्यापार और वाणिज्य, निवेश और विकास साझेदारी, क्षमता निर्माण, रक्षा और समुद्री सुरक्षा, सांस्कृतिक और लोगों से लोगों के बीच संपर्क के अलावा कई अन्य क्षेत्रों में भी सहयोग को और मजबूत करने के तौर तरीकों पर चर्चा की।

7. द्विपक्षीय व्यापार और निवेश के मौजूदा संबंधों पर संतोष व्यक्त करते हुए, दोनों पक्षों ने फिर इस बात की पुष्टि की कि अभी भी इन क्षेत्रों में अपार संभावनाएं मौजूद हैं। दोनों पक्षों ने यात्राओं के आदान-प्रदान, प्रदर्शनियों, संगोष्ठियों, कार्यशालाओं आदि में भागीदारी के जरिए व्यापार से संबंधित वार्ताओं को गति देने की प्रतिबद्धता दोहराई और सेनेगल के लिए भारत द्वारा प्रस्तावित शुल्क मुक्त वरीयता योजना के उपयोग के लाभ को रेखांकित किया।

8. दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि वे भारतीय कंपनियों को सेनेगल में खासतौर से 'सेनेगल इमर्जेंट योजना' के प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। सेनेगल पक्ष अपने यहां भारतीय कंपनियों को संयुक्त उद्यम में निवेश की सुविधा देने पर सहमत हुआ। दोनों पक्षों ने भारत-अफ्रीका व्यापार और निवेश को आगे बढ़ाने के लिए अफ्रीकी महाद्वीपीय मुक्त व्यापार समझौते (एएफसीएफटीए) की शुरुआत के साथ उभरते अवसरों पर भी गौर किया।

9. दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय आर्थिक सहयोग को मजबूत करने के संभावित क्षेत्रों के रूप में स्वास्थ्य, विशेष रूप से फार्मास्युटिकल क्षेत्र, टेलीमेडिसिन, सर्जिकल और अस्पतालों में इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री और उपकरणों की आपूर्ति में सहयोग की संभावनाओं का पता लगाया। दोनों पक्षों ने सेनेगल के फार्मा बाजार में भारतीय दवा कंपनियों की गहरी दिलचस्पी पर भी गौर किया। सेनेगल ने उसे 'मेड इन इंडिया' कोविड वैक्सीन की 25,000 खुराक उपहार में देने के लिए भारत को धन्यवाद दिया। जेसीएम के दौरान दोनों पक्षों ने स्वास्थ्य और चिकित्सा के क्षेत्र में सहयोग के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। दोनों पक्ष अपने अपने देशों द्वारा जारी टीकाकरण प्रमाणपत्रों को पारस्परिक रूप से मान्यता देने पर विचार करने पर भी सहमत हुए।

10. दोनों पक्षों ने सूचना और संचार प्रौद्योगिकी-आईसीटी के माध्यम से भारत द्वारा उठाए गए विकासात्मक कदमों और सेनेगल द्वारा अपनी प्रमुख 'डिजिटल सेनेगल रणनीति 2025' के माध्यम से अपने लोगों के आर्थिक लाभ के लिए आईसीटी क्रांति का उपयोग करने की आकांक्षा पर गौर किया। दोनों पक्ष इन क्षेत्रों के साथ साथ ई-गवर्नेंस, प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, क्लाउड प्रौद्योगिकी, डिजिटल वित्तीय सेवाएं, ई-कराधान आदि के क्षेत्र में भी सहयोग के तौर-तरीके तय करने पर सहमत हुए।

11. दोनों पक्षों ने कृषि के क्षेत्र में विशेष रूप से तकनीकी और कृषि उपकरणों के माध्यम से भारत की ओर से दी गई महत्वपूर्ण मदद पर गौर किया और इसी के साथ कृषि क्षेत्र में विशेष रूप से कृषि मशीनीकरण, कृषि उपकरणों के निर्यात, ट्रैक्टर और अन्य उपकरणों, प्रौद्योगिकी तथा विशेषज्ञता और क्षमता निमार्ण के लिए सहयोग करने पर सहमत हुए।

12. दोनों पक्ष मत्सय संसाधनों के सतत प्रबंधन और पर्यावास बहाली, जलीय कृषि के विकास, मत्स्य उत्पादन में वृद्धि, मानव पूंजी को मजबूत करने, इस क्षेत्र में शासनात्मक सुधार और मर्चेंट नेवी के आधुनिकीकरण में सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए।

13. दोनों पक्षों ने ऊर्जा क्षेत्र, विशेष रूप से पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस में सहयोग की संभावना को रेखांकित किया और सेनेगल में भारत के निवेश, तकनीकी विशेषज्ञों के आदान-प्रदान और क्षमता निर्माण के माध्यम से कच्चे तेल की खोज में सहयोग के लिए सहमति व्यक्त की।

14. दोनों पक्षों ने रेल परिवहन की द्विपक्षीय सहयोग के एक अन्य उभरती संभावनाओं वाले क्षेत्र के रूप में पहचान की और इस क्षेत्र में सहयोग के विशिष्ट तरीकों को पता लगाने पर सहमत हुए।

15. सेनेगल ने पूर्व निर्धारित उधारी सीमा -लाइन ऑफ क्रेडिट, अनुदान, बायर्स क्रेडिट, प्रशिक्षण कार्यक्रमों और छात्रवृत्ति के माध्यम से भारत की ओर से विकास के लिए की गई मदद के प्रति आभार व्यक्त किया। दोनों पक्षों ने विकास साझेदारी की समीक्षा की और नए लाइन ऑफ क्रेडिट के माध्यम से आगे भी यह सहयोग जारी रखने पर सहमति व्यक्त की। जेसीएम के दौरान राजनयिकों के प्रशिक्षण पर एक समझौता ज्ञापन पर भी हस्ताक्षर किए गए।

16. दोनों पक्ष नियमित प्रशिक्षण कार्यक्रमों सहित और तरीकों से भी द्विपक्षीय रक्षा और सुरक्षा सहयोग को अधिक मजबूत करने पर सहमत हुए। उन्होंने आंतकवाद की सभी रूपों और अभिव्यक्तियों में कड़ी निंदा करने के अपने रुख पर कायम रहने और संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद पर व्यापक सम्मेलन (सीसीआईटी) जल्दी आयोजित करने की आवश्यकता पर बल दिया।

17. दोनों पक्षों ने अफ्रीका और भारत को पर्याप्त प्रतिनिधित्व दिए जाने के साथ स्थायी और अस्थायी सदस्यों की संख्या बढ़ाकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् का विस्तार तत्काल किए जाने की आवश्यकता पर भी सहमति व्यक्त की।

18. दोनों पक्षों ने पर्यावरण के संरक्षण और विकास तथा जलवायु परिवर्तन प्रभाव के बीच संतुलन बनाए रखने की आवश्यकता पर ध्यान दिया। दोनों पक्षों ने जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सहयोग के लिए भी प्रतिबद्धता जताई।

19. इस बात पर सहमति बनी कि संयुक्त आयोग की चौथी बैठक नई दिल्ली में सुविधानुसार निर्धारित तिथियों पर आयोजित की जाएगी।

डकार
नवंबर 5,2021

Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code