मीडिया सेंटर

छठी भारत-नाइजीरिया जेसीएम के समापन पर विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर का संयुक्त प्रेस वक्तव्य

जनवरी 23, 2024

आज के इस कार्यक्रम में भागीदारी का अवसर वास्तव में मेरे लिए बड़ी प्रसन्नता का विषय है। यहां यह मेरा पहला दौरा है। और मैं संयुक्त आयोग के साथ हुई चर्चा से विशेष रूप से संतुष्ट हूँ। मुझे पिछले वर्ष मंत्री महोदय का संक्षिप्त आतिथ्य करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ था। हमारे लिए यह बहुत सम्मान की बात है, कि नाइजीरिया के राष्ट्रपति महामहिम राष्ट्रपति टीनूबू सितंबर में जी20 समिट में भाग लेने के लिए आए थे।

इसलिए, जैसा कि मेरे सहयोगी ने कहा, सहयोग के बहुत मजबूत आधार के साथ हमारा एक लंबा, सशक्त, अनुकूल इतिहास रहा है। और आज हमारा प्रयास ऐसे समय में है जब, जैसा कि आप जानते हैं, प्रौद्योगिकी बदल रही है, आर्थिकी बदल रही है, विश्व की राजनीति बदल रही है। हमें विचार करना है कि ऐसा संबंध कैसे बनाएं जो भावी जरूरतों के अनुरूप हो, जो समावेशी सामाजिक-आर्थिक दृष्टिकोण वाले दो लोकतांत्रिक देशों के लिए लाभप्रद हो। हम अनुभवों और क्षमताओं के आदान-प्रदान के माध्यम से एक-दूसरे का समर्थन कैसे कर सकते हैं। हमने आज कुछ मुद्दों और विश्व के महत्वपूर्ण मुद्दों, कुछ क्षेत्रीय मुद्दों पर भी चर्चा की। मेरे विचार में मंत्री जी से मुझे कुछ जानकारियां मिलीं, जो मेरे लिए बहुत उपयोगी थीं, खासकर इस क्षेत्र के संबंध में। तो, मेरे लिए यह वास्तव में एक बहुत सार्थक दिन रहा है।

मैं कहना चाहूँगा कि इस दौरे में, मुझे दो व्यावसायिक सम्मेलनों को संबोधित करने अवसर मिला, एक तो नाइजीरिया में भारतीय समुदाय से भेंट हुई, जो यहां बहुत बड़ा योगदान करते हुए बहुत संतुष्ट हैं, और नाइजीरिया के एक प्रमुख थिंक टैंक को संबोधित करने का अवसर प्राप्त हुआ। तो इस तरह से ये दो दिन मेरे लिए बहुत सार्थक रहे। धन्यवाद।

Write a Comment एक टिप्पणी लिखें
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * पुष्टि संख्या